वो बैंक जिसमें पैसे नहीं कुछ और ही मिलता है, गरीबों का होता है भला – News18 हिंदी

Picture of Chief Editor

Chief Editor

रिपोर्ट – कृष्ण कुमार
नागौर. आपने लोगों को बैंक में पैसा इकट्ठा करते हुए जरूर देखा होगा और फिर उस पैसे को जरूरत के समय काम में भी लिया जाता है, लेकिन आज जो खबर हम बताने जा रहे हैं वहां बैंक तो है, लेकिन यह बैंक पैसों वाला नहीं, बल्कि कपड़ों का बैंक है. इस बैंक में सिर्फ कपड़ों को इकट्ठा किया जाता है. जिससे कि जरूरतमंद लोगों को यह कपड़े पहुंचाए जा सके. नागौर की मकराना तहसील में रहने वाले शिवराज पिछले कई वर्षों से सर्दी के समय इस बैंक के माध्यम से लोगों की जरूरत पूरी करते हैं.
जानिए कैसे हुई शुरुआत

मकराना तहसील निवासी शिवराज धोलिया ने बताया कि मैने माता – पिता की प्ररेणा से इस काम को करने की शुरुआत की. सर्दियों के दिनों में देखा करता था कि गरीब व झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाले परिवारों के पास सर्दी के समय गर्म वस्त्रों का अभाव रहता था. यह सब देखकर पीड़ा होती थी. क्योंकि भगवान ने हमें इस काबिल बनाया है कि हम उनकी मदद कर सकें, बस तभी से यह सब शुरू हुआ.
कपड़ा बैंक बनाकर कर रहे मदद
जिस तरह खून इकट्टा करने के लिए ब्लैड बैंक, उसी तरह कपड़ा बैंक बनाकर गरीबों व जरुरतमंद लोगों को घर जाकर कपड़ो को बांट रहे हैं. कई वर्षों से लगातार यह काम कर रहें हैं. उन्हें इस नेक काम के चलते वन्दे वीर सम्मान, हिन्दी गौरव अवार्ड से सम्मानित भी किया गया.

इस साल वह पांच सौ लोगो को वस्त्र दान कर चुके हैं. यदि किसी व्यक्ति को गर्म वस्त्रों की आवश्यकता है, तो इन मोबाइल नंबर पर संपर्क कर सकते हैं 9785369697

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

FIRST PUBLISHED : January 29, 2023, 16:22 IST

Source link

Chief Editor
Author: Chief Editor

Leave a Comment

Leave a Comment

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स